अभिनेता सोनू सूद के प्रयास से एम्स में महिला का ऑपरेशन

अल्मोड़ा उत्तराखंड लाइव ऊधम सिंह नगर गढ़वाल देहरादून नैनीताल मुख्य समाचार हरिद्वार

ऋषिकेश देहरादून अनीता रावत
पटना और दिल्ली एम्स में नहीं हो पाया था महिला का उपचार
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश के चिकित्सकों ने बीते डेढ़ साल से पेट में तेज दर्द और उल्टी की गंभीर समस्या से ग्रसित एक 26 वर्षीया महिला के पेट के ट्यूमर के सफल ऑपरेशन किया। बिहार निवासी उक्त महिला को उपचार के लिए एम्स ऋषिकेश तक पहुंचाने में फिल्म अभिनेता सोनू सूद की अहम भूमिका रही है।
बिहार के आरा जिला निवासी 26 वर्षीय इस महिला को पिछले डेढ़ साल से उल्टी के साथ पेट में अत्यधिक दर्द से पीड़ित थी। महिला का पहले एम्स पटना और उसके बाद दिल्ली एम्स में सघन स्वास्थ्य परीक्षण किया गया, जिसमें चिकित्सकों ने पाया कि महिला के पेन्क्रियाज में काफी बड़े आकार का ट्यूमर बन चुका है। जिसकी वजह से उक्त महिला को पिछले डेढ़ साल से लगातार पेट में असहनीय दर्द की शिकायत रहने लगी थी। इसके अलावा वह लगातार उल्टी होने की समस्या से भी ग्रसित थी।
गंभीर बीमारी के बावजूद पटना और दिल्ली एम्स में महिला के उपचार में हो रहे विलंब के चलते एक्टर सोनू सूद ने उसके त्वरित इलाज के लिए ऋषिकेश एम्स से संपर्क साधा। जहां विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम ने महिला रोगी की गहनता से जांच की। उन्होंने पाया कि महिला के पेट में बना ट्यूमर बड़ी ही जटिल स्थिति में है, जिसमें अधिक विलंब होने पर उसकी जान को खतरा भी हो सकता है। लिहाजा उसकी तत्काल सर्जरी का निर्णय लिया गया, एम्स के सर्जीकल गैस्ट्रो विभाग के विशेषज्ञों की टीम ने इस महिला के ट्यूमर का सफलतापूर्वक आपरेशन को अंजाम दिया। सफल सर्जरी करने वाली टीम में शल्य चिकित्सा के डा. मधुर उनियाल, डा. अभिषेक अग्रवाल और एनेस्थिसिया विभाग के डा. वाईएस पयाल व डा. अजीत कुमार शामिल थे।एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने इस सफलता के लिए चिकित्सकों की टीम को बधाई दी है। निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने कहा कि एम्स ऋषिकेश में जटिलतम बीमारियों के उपचार के लिए वर्ल्ड क्लास स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि सभी रोगियों को आधुनिकतम व बेहतर इलाज उपलब्ध कराया जाए।
इस बाबत जानकारी देते हुए डीन एकेडमिक प्रोफेसर मनोज गुप्ता ने बताया कि महिला का यह ऑपरेशन बहुत ही चुनौतीपूर्ण था। अग्नाशय के बिल्कुल नजदीक बन चुके ट्यूमर की वजह से उसकी स्थिति काफी जटिल हो चुकी थी। लेकिन एम्स के विशेषज्ञ चिकित्सकों ने अपने अनुभव से इस जटिल सर्जरी में सफलता प्राप्त की है। डीन प्रो. मनोज गुप्ता ने बताया कि महिला रोगी के ट्यूमर का ऑपरेशन बीती 11 सितंबर-2020 को किया गया, जबकि रविवार 20 सितंबर को महिला को एम्स अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।
गौरतलब है कि इस महिला का संस्थान में हुए सफल ऑपरेशन के लिए फिल्म अभिनेता सोनू सूद ने अपने ट्यूटर एकाउंट और फेस बुक में एम्स ऋषिकेश का विशेष आभार व्यक्त किया है। उन्होंने उल्लेख किया है कि जब पटना और दिल्ली एम्स में उक्त महिला के उपचार की व्यवस्था नहीं हो पाई, तो ऐसे में ऋषिकेश एम्स ने न केवल महिला की जान बचाई है, बल्कि निहायत कम समय में उसे ठीक कर डिस्चार्ज भी कर दिया है। इसके लिए एक्टर सूद ने निदेशक एम्स पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत सहित ऑपरेशन टीम के विशेषज्ञ चिकित्सकों का भी विशेष आभार जताया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *